Monday , May 10 2021
6th Hindi NCERT Vasant I

अक्षरों का महत्व: 6th Class NCERT CBSE Hindi Chapter 05

अक्षरों का महत्व 6th Class NCERT CBSE Hindi वसंत भाग 1 Chapter 05

प्रश्न: धरती का अस्तित्व कब से है?

उत्तर: धरती का अस्तित्व लगभग पाँच अरब साल पहले से है।

प्रश्न: धरती पर मानव की उत्पत्ति कब हुई?

उत्तर: धरती पर मानव की उत्पत्ति करीब पाँच लाख साल पहले हुई।

प्रश्न: आदमी ने गाँवों में रहना कब शुरू किया?

उत्तर: कोई दस हजार साल पहले आदमी ने गाँवों में रहना शुरू किया।

प्रश्न: इतिहास कब शुरू होता है?

उत्तर: जिस समय से मनुष्य के लिखे लेख मिलने लगते हैं, उस समय से इतिहास शुरू होता है।

अक्षरों का महत्व – प्रश्न: प्रागैतिहासिक काल किसे कहते हैं?

उत्तर: इतिहास के आरंभ से पहले के काल को प्रागैतिहासिक काल कहते हैं।

प्रश्न: पाठ में ऐसा क्यों कहा गया है कि अक्षरों के साथ एक नए युग की शुरुआत हुई?

उत्तर: अक्षरों के साथ एक नए युग की शुरुआत हुई क्योंकि आदमी अक्षरों की खोज से हम इतिहास को जान पाए। अक्षरों की खोज के बाद ही मनुष्य अपने विचारों को लिखकर रखने लगा। इस प्रकार, पीढ़ी के ज्ञान का इस्तेमाल दूसरी पीढ़ी करने लगी। अक्षरों की खोज मनुष्य को प्रगति के पथ पर ले गई।

प्रश्न: अक्षरों की खोज का सिलसिला कब और कैसे शुरू हुआ? पाठ पढ़कर उत्तर लिखो।

उत्तर: प्रागैतिहासिक मानव ने सबसे पहले चित्रों के जरिए अपने भाव को व्यक्त किया। जैसे, पशुओं, पक्षियों, आदमियों आदि के चित्र। इन चित्र-संकेतों के बाद मं, भाव-संकेत अस्तित्व में आए। जैसे, एक छोटे वृत्त के चहुँ किरणों की द्योतक रेखाएँ खींचने पर वह ‘सूर्य’ का चित्र बन जाता था। बाद में यही चित्र ‘ताप’ या ‘धूप’ का द्योतक बन गया। इस तरह भाव-संकेत अस्तित्व में आए। तब जाकर काफी बाद में आदमी ने अक्षरों की खोज की।

प्रश्न: अक्षरों के ज्ञान से पूर्व मनुष्य अपनी बात को दूर-दराज़ के इलाकों तक पहुँचाने के लिए किन-किन माध्यमों का सहारा लेता था?

उत्तर: अक्षरों के ज्ञान से पूर्व मनुष्य अपनी बात को दूर-दराज़ के इलाकों तक पहुँचाने के लिए पशुओं, पक्षियों, आदमियों आदि के चित्र बनाकर भाव संकेत का सहारा लेता था।

प्रश्न: अक्षरों के महत्व की तरह ध्वनि के महत्त्व के बारे में जितना जानते हो उसे लिखो।

उत्तर: भाषा की सबसे छोटी इकाई ध्वनि है। ध्वनियों की संगठित इकाई से अक्षर बनते हैं। अक्षरों द्वारा लिखकर अपने भाव व्यक्त किए जाते हैं और ध्वनियों द्वारा बोलकर। अक्षरों के बिना लिखा नहीं जा सकता और ध्वनियों के बिना बोलने की कल्पना नहीं की जा सकती है। अपनी भाषा की सार्थक ध्वनियों के उच्चारण द्वारा ही हम अपना भाव व्यक्त करते हैं। इसलिए अक्षर के समान ध्वनि भी महत्त्वपूर्ण है।

प्रश्न: पुराने ज़माने में लोग यह क्यों सोचते थे कि अक्षर और भाषा की खोज ईश्वर ने की थी? अनुमान लगाओ और बताओ।

उत्तर: पुराने जमाने में लोग यह सोचते थे कि अक्षर और भाषा की खोज ईश्वर ने की थी क्योंकि उनके पास उसका इतिहास नहीं था।

अक्षरों का महत्व – प्रश्न: कल्पना करो कि यदि हमें अक्षरों का ज्ञान न होता तो क्या होता? लिखो।

उत्तर: यदि हमें अक्षरों का ज्ञान न होता तो:

  1. हम हमारे इतिहास को न जान पाते।
  2. हम पुरानी पीढ़ी के ज्ञान से कुछ सीख नहीं पाते।
  3. हमारा विकास तेज़ी से न होता।

अनादि काल में रेखांकित शब्द का अर्थ है जिसकी कोई शुरुआत या न हो। नीचे दिए गए शब्द भी मूल शब्द के शुरू में कुछ जोड़ने से बने इसे उपसर्ग कहते हैं। इन उपसर्गों को अलग करके लिखो और मूल शब्दों को लिखकर उनका अर्थ समझो:

  • असफल
  • अदृश्य
  • अनुचित
  • अनावश्यक
  • अपरिचित
  • अनिच्छा

प्रश्न: (I) अब बताओ कि ये उपसर्ग जिन शब्दों के साथ जुड़ रहे हैं क्या उनमें कोई अंतर है?

उत्तर: (I)

शब्द
उपसर्ग
मूल शब्द
अर्थ
असफल
सफल
जिसे सफलता न मिली हो
अदृश्य
दृश्य
जो दिखाई न दे
अनुचित
अन्
उचित
जो ठीक (उचित) न हो
अनावश्यक
अन्
आवश्यक
जो जरूरी न हो
अपरिचित
परिचित
जिसे हम जानते-पहचानते न हो
अनिच्छा
अन्
इच्छा
बिना रूचि के

प्रश्न: (II) उपर्युक्त शब्दों से वाक्य बनाओ और समझो कि ये संज्ञा हैं या विशेषण। वैसे तो संख्याएँ संज्ञा होती हैं पर कभी-कभी ये विशेषण का काम करती हैं, जैसे नीचे लिखे वाक्य में:

  1. हमारी धरती लगभग पाँच अरब साल पुरानी है।
  2. कोई दस हज़ार साल पहले आदमी ने गाँवों को बसाना शुरू किया।

इन वाक्यों में रेखांकित अंश ‘साल’ संज्ञा के बारे में विशेष जानकारी दे रहे हैं, इसलिए संख्यावाचक विशेषण हैं। संख्यावाचक विशेषण का इस्तेमाल उन्हीं चीज़ों के लिए होता है जिन्हें गिना जा सके। जैसे, चार संतरे, पाँच बच्चे, तीन शहर आदि। पर यदि किसी चीज़ को गिना नहीं जा सकता तो उसके साथ संख्या वाले शब्दों के अलावा माप-तौल आदि के शब्दों का इस्तेमाल भी किया जाता है:

  1. तीन जग पानी
  2. एक किलो ज़ीरा

यहाँ रेखांकित हिस्से परिमाणवाचक विशेषण हैं क्योंकि इनका संबंध माप-तौल से है। अब नीचे लिखे हुए को पढ़ो। खाली स्थानों में बॉक्स में दिए गए माप-तौल के उचित शब्द छाँटकर लिखो।

प्याला,  कटोरी,  एकड़,  मीटर, लीटर, किलो, ट्रक, चम्मच

  1. तीन……………… खीर
  2. दो………………… ज़मीन
  3. छह………………कपड़ा
  4. एक………………… रेत
  5. दो……………… कॉफ़ी
  6. पाँच………… बाजरा
  7. एक…………… दूध
  8. तीन……………… तेल

उत्तर: (II)

  1. तीन कटोरी खीर
  2. दो एकड़ जमीन
  3. छह मीटर कपडा
  4. एक ट्रक रेत
  5. दो प्याला कॉफ़ी
  6. पाँच किलो बाजरा
  7. एक लीटर दूध

अक्षरों का महत्व – प्रश्न: अक्षरों का क्या महत्त्व है?

उत्तर: अक्षर लिखित भाषा की बुनियाद हैं। लिखे हुए शब्द स्थायी होते हैं। ये विचारों और ज्ञान के प्रसार में मुख्य भूमिका निभाते हैं। अक्षरों के माध्यम से ही हम देश दुनिया के खबरें और विभिन्न जानकारियाँ पत्र-पत्रिकाओं और पुस्तकों में पढ़ते हैं। इस प्रकार अक्षर बहुत ही महत्त्वपूर्ण हैं।

प्रश्न: धरती पर मानव के उद्भव और विकास के बारे में लिखें।

उत्तर: धरती पर मानव ने करीब पाँच लाख साल पहले जन्म लिया। तभी से उसके क्रमिक विकास की प्रक्रिया आरंभ हो गई। कोई दस हजार साल पहले उसने गाँवों में बसना शुरू किया पत्थर के औजार की जगह ताँबें और काँसे के औजार बनाए जाने लगे। करीब छः हजार साल पहले अक्षरों की खोज हुई , जिसने एक नए युग का शुभारंभ हुआ।

प्रश्न: प्रागैतिहासिक मानव ने अक्षरों की खोज में क्या योगदान दिया?

उत्तर: प्रागैतिहासिक मानव ने ही सबसे पहले भावों को व्यक्त करने की जरूरत महसूस की और इसके लिए चित्र संकेतों का सहारा लिया। पशु-पक्षियों और आदमियों के चित्र न केवल भाव व्यक्त करते थे अपितु घटनाओं का दृश्य भी प्रस्तुत करते थे। जैसे मध्य-भारत की गुफाओं में मिले शिकार के दृश्य। इन चित्र संकेतों का जन्म हुआ और यह प्रक्रिया आगे चलकर अक्षरों की खोज में परिणत हुई।

प्रश्न: अक्षरों की खोज मनुष्य की सबसे बड़ी खोज है। कैसे?

उत्तर: अक्षरों की खोज ने मानव जीवन में कई परिवर्तन ला दिए। लोग अपने विचार और हिसाब-किताब लिखकर रखने लगे। उन्हें सभ्य कहा जाने लगा। पीढ़ी के लिए लिखित विचारों का ज्ञान प्राप्त कर दूसरी पीढ़ी ने आगे विकास करना शुरू किया और इस प्रकार यह प्रक्रिया और आगे बढती गई। अक्षरों की खोज के बाद मानव जाती ने बहुत तेजी से विकास किया। अतः हम कह सकते हैं कि यह मानव जाती की सबसे बड़ी खोज है।

प्रश्न: अक्षरों की खोज का इतिहास की जानकारी से क्या संबंध है?

उत्तर: अक्षरों से ही हमें इतिहास की जानकारी मिलती है। अतीत में लिखे गए ग्रंथ और कहानियाँ हमें उस बीते हुए समय के बारे में बताते है। वास्तव में इतिहास की शुरुआत तभी से मानी जाती है, जब से मनुष्य द्वारा लिखे लेख प्राप्त होते हैं। अतः अक्षरों की खोज का इतिहास की जानकारी से गहरा संबंध है।

बहुविकल्पीय प्रश्न: नीचे दिए गए प्रश्नों के उत्तर विकल्पों से चुनकर दीजिए:

प्रश्न: प्रश्न: धरती का अस्तित्व कब से है?

  1. अनादि काल से
  2. आदि काल से
  3. पाँच अरब साल से
  4. दस अरब साल से

प्रश्न: धरती पर मानव की उत्पत्ति कब हुई?

  1. पाँच लाख साल पहले
  2. दस लाख साल पहले
  3. पन्द्रह लाख साल पहले
  4. बीस लाख साल पहले

प्रश्न: आदमी ने गाँवों में रहना कब शुरू किया?

  1. दस लाख साल पहले
  2. दस हजार साल पहले 
  3. दस सौ साल पहले
  4. दस साल पहले

प्रश्न: अक्षर किसके मूल में हैं?

  1. लिखित भाषा
  2. मौखिक भाषा
  3. सांकेतिक भाषा
  4. चित्र-संकेत

प्रश्न: भाव-संकेत किसके माध्यम से अस्तित्व में आए?

  1. भावनाओं से
  2. इशारों से
  3. चित्र-संकेत से
  4. इनमें से कोई नहीं

प्रश्न: पुराने समय में लोगों की सोच थी कि _____ की खोज ईश्वर ने की है।

  1. ध्वनियों
  2. अक्षरों
  3. शब्दों
  4. पुस्तकों

प्रश्न: मनुष्य ने इनमें से किससे बने हथियारों का इस्तेमाल सबसे पहले किया?

  1. लोहा
  2. ताँबा
  3. काँसा
  4. पत्थर

प्रश्न: छोटे वृत्त के चरों ओर खिची रेखाओं के माष्यम से मनुष्य किसका चित्र बनाता था?

  1. सूर्य
  2. तारे
  3. चंद्रमा
  4. दीपक

प्रश्न: मनुष्य जब अपने विचार और हिसाब-किताब लिखकर रखने लगा तब उसे ____ कहा जाता है।

  1. साक्षर
  2. शिक्षित
  3. सभ्य
  4. ज्ञानवान

अक्षरों का महत्व – प्रश्न: ‘इतिहास’ से बना विशेषण शब्द है ____।

  1. इतिहासिक
  2. ऐतिहासिक
  3. एतिहासिक
  4. इतिहासिक

Check Also

6th Class English book A Pact With The Sun

The Monkey and the Crocodile: 6th Class English Chap 06

The Monkey and the Crocodile: NCERT 6th Class CBSE A Pact With The Sun English Chapter 06 …