Sunday , January 19 2020
Home / Tag Archives: Hindi Essays for 8 Class Students (page 13)

Tag Archives: Hindi Essays for 8 Class Students

जनतंत्र में नागरिकों के अधिकार तथा कर्त्तव्य पर विद्यार्थियों के लिए निबंध

Democracy

प्रजातंत्र या जनतंत्र की सर्वाधिक प्रचलित और भू उद्धृत परिभाषा है – जनता की, जनता द्वारा जनता के लिए शासन-प्रणाली। इस परिभाषा में जहाँ ‘जनता द्वारा’ शब्द देश के नागरिकों के कर्त्तव्य की ओर संकेत करते हैं वहाँ ‘जनता के लिए’ जनता के अधिकारों पर बल देते हैं। वस्तुतः जनतंत्र …

Read More »

भारत पाकिस्तान सम्बन्ध पर विद्यार्थियों के लिए हिंदी में निबंध

भारत पाकिस्तान सम्बन्ध पर विद्यार्थियों के लिए हिंदी में निबंध

आज भारत और पाकिस्तान पड़ौसी देश हैं। आज से 50-55 वर्ष पहले इन दोनों देशों के निवासी एक ही देश, एक ही भूखंड के निवासी थे। अंग्रेजों की कूटनीति के कारण देश का विभाजन हुआ और एक नये राष्ट्र पाकिस्तान ने जन्म लिया। आज भी दोनों देशों के निवासियों में …

Read More »

भारत-रूस सम्बन्ध पर विद्यार्थियों के लिए हिंदी में निबंध

भारत-रूस सम्बन्ध पर विद्यार्थियों के लिए हिंदी में निबंध

स्थूल दृष्टि से देखने पर भारत तथा रूस में समानता से अधिक असमानताएँ दिखाई देती हैं। भारत एशिया का देश है, रूस यूरोप का; भारत धर्म, अध्यात्म, ईश्वर की सत्ता में आस्था रखता है, रुस अनीश्वरवादी है, वह धर्म को चेतना सुलाने वाली अफीम मानता है। रूस कार्लमार्क्स के सिद्धान्तों …

Read More »

बड़ा दिन क्रिसमस पर विद्यार्थियों के लिए हिंदी निबंध

Christmas

जिस प्रकार दशहरा और दीपावली का संबंध हमारे भागवान श्रीराम से तथा जन्माष्टमी का संबंध भागवान श्रीकृष्ण से है, उसी प्रकार क्रिसमस का संबंध ईसा मसीह से है। क्रिसमस का यह पर्व प्रतिवर्ष 25 दिसम्बर को विश्वभर में बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है। इसी दिन लोकोद्धारक, परम, दयालु, गरीबों …

Read More »

विकलांगों के प्रति हमारी दृष्टि और कर्त्तव्य पर विद्यार्थियों के लिए हिंदी निबंध

विकलांगों के प्रति हमारी दृष्टि और कर्त्तव्य पर निबंध Hindi Essay on Disability

विकलांग शरीर प्रकृति या ईश्वर का अभिशाप है, पृथ्वी पर भार है, समाज को चुनौती है, परिवार पर बोझ है। विकलांग व्यक्ति वह होता है जिसके शरीर का कोई अंग या तो जन्म से ही नहीं होता है जैसे किसी के दो की बजाये एक गुर्दा हो या उसका अंग …

Read More »

मेरी अभिलाषा पर निबंध

मेरी अभिलाषा पर निबंध

कविवर माखनलाल चतुर्वेदी ने ‘पुष्प की अभिलाषा’ कविता के माध्यम से राष्ट्र पर प्राण निछावर करने की अभिलाषा प्रकट की है। जिस प्रकार समुद्र में अनेक लहरें उठती और विलीन होती रहती हैं, उसी प्रकार मनुष्य के मन में तरह-तरह की इच्छाएं उत्पन्न होती रहती हैं। संसार में शायद ही …

Read More »

मेरा देश भारत: विद्यार्थियों और बच्चों के लिए हिंदी निबंध

India

इस सृष्टि की रचना परमात्मा ने की, ऐसा ऋषि लोग मानते हैं। भारतवर्ष सृष्टि के लिए सर्वोत्तम लगा हो, तभी तो देवता भी इस भूमि पर जन्म लेने के लिए तरसते थे। परशुराम, राम, कृष्ण, महात्मा बुद्ध इसी भारत में अवतरित हुए। शकुन्तला पुत्र भरत के नाम पर इस देश का …

Read More »

सदाचार पर निबंध Hindi Essay on Virtue, Good Behavior

सदाचार पर निबंध Hindi Essay on Virtue, Good Behavior

सदाचार शब्द ‘सत् + आचार‘ से मिलकर बना है। सदाचार और शिष्टाचार में अन्तर है। सदाचार चरित्र की पवित्रता को और शिष्टाचार व्यवहारिक कुशलता को प्रकट करता है। मनुष्य की मनुष्यता उसके चरित्र में निहित होती है। चरित्रहीन व्यक्ति को हमारे समाज में पशु भी कहा गया है। सदाचार के गुणों …

Read More »

मेरी कक्षा अध्यापिका: विद्यार्थियों और बच्चों के लिए हिंदी निबंध

English essay on My Favourite Teacher for students & children

आज की शिक्षा व्यवस्था में एक कक्षा के छात्रों को भिन्न-भिन्न विषयों का अध्यापन अलग-अलग अध्यापक कराते हैं। छात्र कई-कई अध्यापकों के सम्पर्क में आता है। छात्र-छात्राओं के मन पर अध्यापक-अध्यापिकाओं का प्रभाव पड़े बिना नहीं रहता। परन्तु फिर भी छात्र या छात्रा का जितना घनिष्ठ संबंध अपनी कक्षा अध्यापिका …

Read More »

मेरा जन्मदिन: विद्यार्थियों और बच्चों के लिए हिंदी निबंध

Happy Birthday

हमारे देश में जन्मदिन मनाने की परम्परा है। हमारे शास्त्रों की मान्यता है कि मानव जन्म अनेक पुण्यों के बाद मिलता है। हमारे यहाँ प्रार्थना की गई है कि हम कर्म करते हुए सौ वर्ष जीयें। संभवत: पहले यह परम्परा राजा महाराजाओं से प्रारम्भ हुई होगी और फिर जनता में आई। …

Read More »