Friday , September 17 2021

Essays

हानी-लाभ, जीवन-मरण, यश-अपयश विधि हाथ: हिंदी निबंध

राष्ट्रीय एकता

हानी-लाभ, जीवन-मरण, यश-अपयश विधि हाथ: हिंदी निबंध – जीव को ब्रह्म का अंध कहा गया है ‘ईश्वर अंश जीव अविनाशी।‘ ब्रह्म का अंश होते हुए भी मनुष्य अपूर्ण है, सदा सफल नहीं होता, अनेक आपदाएँ और कष्ट है, सुख-दुःख का चक्र निरन्तर चलता रहता है। जो सोचता है, कल्पना करता …

Read More »

भारत की बढ़ती जनसंख्या / बढ़ती आबादी: देश की बर्बादी

भारत की बढ़ती जनसंख्या / बढ़ती आबादी: देश की बर्बादी

हिंदी निबंध: भारत की बढ़ती जनसंख्या / बढ़ती आबादी: देश की बर्बादी भारत की बढ़ती जनसंख्या: विश्व का इतिहास जनसंख्या वृद्धि का इतिहास है। प्रो. सांडर्स का मत है कि विश्व की जनसंख्या में प्रति वर्ष एक प्रतिशत की वृद्धि हो रही है और यदि इसी गति से वृद्धि होती …

Read More »

होली: रंगों का त्यौहार Hindi Essay on Holi: Festival of Colors

होली: रंगों का त्यौहार Hindi Essay on Holi: Festival of Colors

होली: रंगों का त्यौहार – होली हिंदुओं का एक प्रमुख त्यौहार है। यह मौज-मस्ती व मनोरंजन का त्योहार है। सभी हिंदू जन इसे बड़े ही उत्साह व सौहार्दपूर्वक मनाते हैं। यह त्योहार लोगों में प्रेम और भाईचारे की भावना उत्पन्न करता है। होली अन्य सभी त्योहारों से थोड़ा हटकर है। …

Read More »

राष्ट्र-निर्माण में विद्यार्थी का योगदान पर हिंदी निबंध

राष्ट्र-निर्माण में विद्यार्थी का योगदान पर हिंदी निबंध

राष्ट्र रूपी वृक्ष के वृन्त पर किशोर-किशोरियाँ कली की तरह और युवक-युवतियाँ पुष्पों की तरह मुस्कराकर, अपनी सुगंध और सौरभ से वातावरण को मोदमय बनाते हैं। इसीलिए विद्यार्थी वर्ग राष्ट्र के यौवन का प्रतीक कहा जाता है। राष्ट्र उनसे बहुत आशा और अपेक्षा करता है, उसकी दृष्टि उन पर केन्द्रित …

Read More »

एड्स पर निबंध विद्यार्थियों और बच्चों के लिए

HIV/AIDS Essay

एड्‌स ‘एक्वायर्ड इम्यून डेफिसिएंसी सिंड्रोम (Acquired Immunodeficiency Syndrome (AIDS))’ का संक्षिप्त नाम है। यह एक असाध्य बीमारी है, जिसे पिछली सदी के अस्सी के दशक के पूर्व कोई भी नहीं जानता था। इस बीमारी का आभास सर्वप्रथम 1981 ई. में अमेरिका में हुआ, जब पाँच समलिंगी पुरुषों में इस अनोखी …

Read More »