Tuesday , October 20 2020
Unseen Passages

अपठित गद्यांश Hindi Unseen Passages V

अपठित गद्यांश Hindi Unseen Passages V [10]

सन् 1935 का वर्षा था। रवींद्रनाथ पचहत्तर वर्ष के हो चुके थे। उनके दुर्बल कंधों को विश्वभारती का बोझ कुछ अधिक भारी लगने लगा था। उन्होंने इस विश्वविद्यालय को अपने स्वप्नों का प्रतिक बनाया था। लेकिन अब उनके पास उसे अपनी इच्छानुसार चलाने के लिए धन नहीं था। कई ऋण भी चुकाने थे। वे अपने दल के साथ अपने सद्यः रचित नृत्य-नाटिका ‘चित्रांगदा’ का मंचन करने एक लंबी यात्रा पर निकले। इसका उद्देश्य विश्व-भरती के लिए धन-राशि एकत्रित करना था। कलकत्ता, पटना, इलाहाबाद, लाहौर और अंत में, दिल्ली में उन्होंने इसका मंचन किया।

रवींद्रनाथ इस वृधावस्था में दौरा करके धन इकट्ठा करने निकले हैं यह जान गाँधी जी की बहुत दुःख हुआ। उन्होंने अपने अनुयायियों से 60,000 रूपये एकत्र करवा के कवि को भेंट किए। उन्हें उस समय आर्थिक संकट से उबारने के लिए इतनी राशि काफी थी।

अगले वर्ष कवि बीमार पड़ गए। गाँधी जी समय-समय पर तार देकर उनके स्वास्थ्य के बारे में पूछते और संदेश भेजते। सन् 1940 में वे कवि से मिलने आए। उसके तुरंत बाद रवींद्रनाथ ने गाँधी जी को पत्र में उन्होंने लिखा, “विश्वभारती को अपने संरक्षण में ले लीजिए ……। विश्वभरती एक ऐसा जहाज है जो मेरे जीवन भर की सर्वोत्तम निधि से भरा हुआ है ….. ।

प्रश्न:

(क) रवींद्रनाथ के दुर्बल कंधों को विश्वभारती का बोझ भारी क्यों लगने लगा था?

  1. बीमारी के कारण उनके कंधे कमजोर हो गए थे
  2. उनका स्वास्थ्य बहुत खराब हो चुका था
  3. उनके पास धन की कमी हो गई थी
  4. विश्वभारती पर अब उनका अधिकार खोता जा रहा था

(ख) ‘चित्रांगदा’ नामक नृत्य नाटिका के मंचन के पीछे गुरुदेव का क्या उद्देश्य था?

  1. लोगों में काव्य-रूचि बढ़ाना
  2. समाज में फैली कुरीतियाँ मिटाना
  3. लोगों को आजादी का मूल्य समझाना
  4. धनार्जन करना

(ग) गाँधी जी ने एकत्रित धनराशी कवि को भेंट कर दिए। यहाँ किस कवि की ओर संकेत किया गया है।

  1. सुमित्रानंदन पंत
  2. जयशंकर प्रसाद
  3. रवींद्रनाथ टैगोर
  4. सूर्यकांत त्रिपाठी निराला

(घ) रवींद्रनाथ टैगोर द्वारा लिखे पत्र का मूलभाव था –

  1. आर्थिक मदद चाहना
  2. विश्वभारती को संरक्षण में लेने का अनुरोध
  3. अपनी कुशलक्षेम बताना
  4. मदद के लिए धन्यवाद ज्ञापित करना

(ड़) ‘सद्यः रचित’ शब्द का पर्याय है:

  1. जिसकी रचना हाल में की गई हो
  2. जिसकी रचना काफी समयपूर्व की गई हो
  3. जिसकी रचना भविष्य में की जानी हो
  4. जिसकी रचना शुरू हो गई हो

(च) रवींद्रनाथ ने गाँधी जी को पत्र द्वारा विश्वभारती को अपने संरक्षण में लेने की बात क्यों कही?

  1. अस्वस्थता के कारण
  2. आर्थिक संकट के कारण
  3. ऋण चुकाने के कारण
  4. यात्रा पर जाने के कारण

Check Also

Unseen Passages

अपठित गद्यांश और पद्यांश Hindi Unseen Passages II

निम्नलिखित पद्यांश को पढकर प्रश्नों के उत्तर दीजिए – देश हमें देता सब कुछ, हम …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *