Saturday , September 26 2020

Tag Archives: Essays in Hindi Language

भारत की बढ़ती जनसंख्या / बढ़ती आबादी: देश की बर्बादी

Reaching the Age of Adolescence

हिंदी निबंध: भारत की बढ़ती जनसंख्या / बढ़ती आबादी: देश की बर्बादी विश्व का इतिहास जनसंख्या वृद्धि का इतिहास है। प्रो. सांडर्स का मत है कि विश्व की जनसंख्या में प्रति वर्ष एक प्रतिशत की वृद्धि हो रही है और यदि इसी गति से वृद्धि होती रही तो एक दिन …

Read More »

पर्यावरण संरक्षण या प्रदूषण की समस्या: हिंदी निबंध

Equatorial Forest Region

पर्यावरण संरक्षण या प्रदूषण की समस्या: पर्यावरण का अर्थ है जिस भूमि पर हम रहते हैं उसके आसपास का वायुमंडल, वातावरण, जलवायु, प्राकृतिक परिवेश और संरक्षण का अर्थ है रक्षा करना, सुरक्षित रखना। पर्यावरण का संरक्षण का अर्थ है रक्षा करना, सुरक्षित रखना। पर्यावरण का संरक्षण किस्से? प्रदूषणों से। तात्पर्य …

Read More »

पर्यावरण पर विद्यार्थियों और बच्चों के लिए निबंध

Environment: पर्यावरण

एक स्वच्छ वातावरण एक शांतिपूर्ण और स्वस्थ जीवन जीने के लिए बहुत आवश्यक है। लेकिन मनुष्य के लापरवाही से हमारा पर्यावरण दिन ब दिन गन्दा होता जा रहा है। यह एक मुद्दा है जिसके बारे में हर किसी को पता होना चाहिए खासकर के बच्चो को। हम कुछ निम्नलिखित निबंध …

Read More »

स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर पर निबंध विद्यार्थियों के लिए

स्वतंत्रता सेनानी वीर सावरकर पर निबंध विद्यार्थियों के लिए

क्रांतिकारी विनायक दामोदर सावरकर भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के विवादास्पद व्यक्तित्व रहे हैं। जहाँ बहुत से लोग उन्हें महान क्रांतिकारी व देशभक्त मानते हैं वहीँ ऐसे लोगों की भी कमी नहीं जो उन्हें सांप्रदायिक मानते हैं और महात्मा गाँधी की हत्या से जोड़ कर देखते हैं। सत्य जो भी तथ्य ये …

Read More »

शिक्षा और व्यवसाय पर निबंध विद्यार्थियों और बच्चों के लिए

आदर्श विद्यार्थी पर निबंध Hindi Essay on Ideal Student

शिक्षा और व्यवसाय: हिंदी निबंध शिक्षा का प्रयोजन है व्यक्ति का सम्पूर्ण और समग्र विकास, उसके शरीर, मन, बुद्धि तथा आत्मा को सबल-सशक्त बनाना, उसमें अच्छे-बुरे, उचीत-अनुचित, पाप-पुण्य, हित-अहित का विवेक पैदा करना। शिक्षा मनुष्य को सभ्य, सुसंस्कृत, शालीन, सच्चरित्र बनाती है, उसे जीवन जीने की कला सिखाती है। शिक्षा …

Read More »

सरोजिनी नायडू पर निबंध विद्यार्थियों और बच्चों के लिए

सरोजिनी नायडू पर निबंध विद्यार्थियों और बच्चों के लिए

सरोजिनी नायडू का जन्म भारत के हैदराबाद नगर में हुआ था। इनके पिता अघोरनाथ चट्टोपाध्याय एक नामी विद्वान तथा माँ कवयित्री थीं और बांग्ला में लिखती थीं। बचपन से ही कुशाग्र-बुद्धि होने के कारण उन्होंने 12 वर्ष की अल्पायु में ही 12वीं की परीक्षा अच्छे अंकों के साथ उत्तीर्ण की …

Read More »

लोहड़ी पर हिन्दी निबंध विद्यार्थियों के लिए

लोहड़ी पर हिन्दी निबंध विद्यार्थियों के लिए

बैशाखी के समान लोहड़ी भी मुख्यतः पंजाब, हरियाणा और अब दिल्ली में मनाया जानेवाला त्यौहार है। इस त्यौहार का संबंध भी मौसम और फसल से है। पंजाब के रहनेवाले तथा पंजाबी सभ्यता-संस्कृति के माननेवाले विश्व के किसी भी भाग में रहते हों, इस त्यौहार को परम्परागत रीती और हर्षोल्लास से …

Read More »

मकर संक्रांति पर हिन्दी निबंध विद्यार्थियों के लिए

मकर संक्रांति पर हिन्दी निबंध विद्यार्थियों के लिए

भारतवर्ष में मनाये जानेवाले त्यौहारों के तीन आधार हैं – धार्मिक-अध्यात्मिक, ऋतुएँ और फसल तथा स्वस्थ-सुखी जीवन बिताने की प्रवृत्ति। मानव जीवन में वही व्यक्ति सुखी रह सकता है जिसका शरीर स्वस्थ हो और मन पवित्र, आत्मा शुद्ध हो। जब मनुष्य का अंतःकरण शुद्ध तथा शरीर स्वस्थ रहेगा तभी वह …

Read More »

विश्व मानवाधिकार दिवस पर निबंध विद्यार्थियों और बच्चों के लिए

विश्व मानवाधिकार दिवस पर निबंध विद्यार्थियों और बच्चों के लिए

सामान्य जीवन यापन के लिए प्रत्येक मनुष्य के अपने परिवार, कार्य, सरकार और समाज पर कुछ अधिकार होते हैं, जो आपसी समझ और नियमों द्वारा निर्धारित होते हैं। इसी के अंतर्गत संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा 10 दिसंबर 1948 को सार्वभौमिक मानवाधिकार घोषणापत्र को आधिकारिक मान्यता दी गई, जिसमें भारतीय संविधान …

Read More »

डॉ० राजेंद्र प्रसाद पर निबंध विद्यार्थियों और बच्चों के लिए

Rajendra Prasad (डॉं० राजेंद्र प्रसाद)

परिचय (Brief Introduction) भारत देश के ‘रत्न’ और बिहार के ‘गौरव’ डॉ० राजेंद्र प्रसाद भारत के प्रथम राष्ट्रपति थे। वे लगभग 10 वर्ष इस पद पर बने रहे। इस काल में देश की अच्छी उन्नति हुई। उनकी सेवाएँ अमूल्य और अनेक हैं। डॉ० राजेंद्र प्रसाद का बचपन एवं शिक्षा (Childhood …

Read More »