Tuesday , April 25 2017
Home / Hindi Grammar / Ling (लिंग) Gender in Hindi Grammar – masculine / feminine
Ling (लिंग) Gender in Hindi Grammar - masculine / feminine

Ling (लिंग) Gender in Hindi Grammar – masculine / feminine

हिंदी शब्दों के दो लिंग होते हैं – स्त्रीलिंग / पुल्लिंग

जो शब्द स्त्री जाती का बोध कराते हैं, वे स्त्रीलिंग कहलाते है तथा जो शब्द पुरुष जाती का बोध कराते हैं, वे पुल्लिंग कहलाते है।

स्त्रीलिंग – लड़की, गाय, मेज़, दुकान आदि
पुल्लिंग – लड़का, समोसा, पंखा, पंडित आदि

लिंग की पहचान

प्राणीवाचक संज्ञाओ में प्राकृतिक लिंग होता है। जैसे- लड़का-लड़की, माता-पिता, मुरगा-मुरगी, चूहा-चुहिया आदि।

अप्राणीवाचक (अचेतन) संज्ञाओ में प्राकृतिक लिंग न होकर व्याकरणिक लिंग होता है। जैसे- कमरा, पंखा, कागज आदि को पुल्लिंग और मेज़, दीवार, रात आदि को स्त्रीलिंग मान लिया जाता है।

लिंग परिवर्तन

लिंग परिवर्तन (पुल्लिंग से स्त्रीलिंग) के लिए कुछ प्रत्ययों का प्रयोग किया जाता है –

प्रिय – प्रिया
शिष्य – शिष्या
नौकर – नौकरानी
सेठ – सेठानी
पुत्र – पुत्री
चाचा – चाची
शेर – शेरनी

पंडित – पंडिताइन
लाला – ललाइन
बंदर – बंदरिया
बूढ़ा – बुढ़िया
सुनार – सुनारिन
लुहार – लुहारिन
स्वामी – स्वामिनी

नित्य पुल्लिंग शब्द

कुछ शब्दों का प्रयोग हमेशा पुल्लिंग में किया जाता है। जैसे –

  1. दिनों के नाम – सोमवार, शुक्रवार आदि
  2. महीनो के नाम – चैत्र, वैशाख, नवंबर, दिसंबर आदि
  3. समुंद्रो के नाम – हिंद महासागर, अंध महासागर आदि
  4. पर्वतो के नाम – हिमायल, नीलगिरि आदि
  5. ग्रहों के नाम – सूर्य, चंद्र, मंगल, बुध आदि (पृथ्वी को छोड़कर)
  6. फलों के नाम – सेब, आड़ू, अमरुद आदि
  7. वृक्षों के नाम – बरगद, पीपल, नीम आदि
  8. रत्नों के नाम – नीलम, पुखराज, हीरा, आदि (मणि को छोड़कर)
  9. अनाजों के नाम – गेंहू, जौ, चना, बाजरा आदि
  10. व्यवसायों / पदो के नाम – व्यापारी, प्रबंधक, अध्यापक, आदि
  11. देशो के नाम – भारत, जापान, अमेरिका आदि
  12. धातुओं के नाम – सोना, लोहा, इस्पात आदि (चाँदी को छोड़कर)

नित्य स्त्रीलिंग शब्द

कुछ शब्दों का प्रयोग प्राय: स्त्रीलिंग में किया जाता है। जैसे –

  1. नदियों के नाम – गंगा, कावेरी, वोल्गा (ब्रह्मपुत्र, सतलुज को छोड़कर)
  2. भाषाओ-बोलियो के नाम – हिंदी, अंग्रेजी, मैथिली, सिंधी आदि
  3. झीलों के नाम – मानसरोवर, नक्की, डल
  4. मसालों के नाम – काली मिर्च, इलायची (नमक, धनिया, जीरा को छोड़कर)
  5. गहनो के नाम – पायल, पाजेब, माला, अँगूठी (कंगन, हार को छोड़कर)
  6. भाववाचक संज्ञाओ के नाम – कोमलता, भलाई, धबराहट, सजावट आदि

संज्ञा शब्दों के लिंग की पहचान वाक्य में प्रयुक्त क्रिया शब्दों से भी की जाती है। जैसे –

  1. डॉक्टर जी आए।               (आदरसूचक प्रयोग)
  2. डॉक्टर जी आ गई है।        (आदरसूचक प्रयोग)

Check Also

अनेकार्थी शब्द - Words with Different Meanings

अनेकार्थी शब्द – Words with Different Meanings

अनेकार्थी का अर्थ है – एक से अधिक अर्थ देने वाला। ऐसे शब्द, जिनके एक …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *