Thursday , November 21 2019
Home / Essays / Essays in Hindi / पालतू जानवर कुत्ते पर हिंदी में निबंध
पालतू जानवर कुत्ते पर हिंदी में निबंध

पालतू जानवर कुत्ते पर हिंदी में निबंध

अन्य पालतू पशुओं की भांति कुत्ता भी एक पालतू पशु है। कुत्ते को बड़ा स्वामिभक्त माना जाता है। यह बहुत उपयोगी जानवर है। कुत्ते की अनेक प्रजातियाँ हैं। कुछ कुत्ते बहुत समझदार होते हैं। कुत्ते की घ्राण शक्ति (सूंघने की शक्ति) बड़ी तीव्र होती है। इसीलिए पुलिस अपराधियों को पकड़ने में कुत्तों की सहायता लेती है।

कुत्ता एक चौपाया पशु है। इस की दो आंखे, दो कान और पूँछ होती है। कुत्ते कई रंग के होते हैं। इसका आकार भी भिन्न-भिन्न होता है। कुछ खरगोश जैसे छोटे और कुछ बकरे से बड़े-बड़े। रईस लोग घर रखवाली के लिए कुत्ते पालते हैं। दरवाजे की घंटी बजते की कुत्ता सावधान हो जाता है और अजनबी आदमी को देखकर भौंकने लगता है। रात में किसी चोर की आहट पाकर भौंकते ही पड़ोसी भी सावधान हो जाते हैं और चोर भागने पर मजबूर हो जाता है या कभी-कभी पकड़ भी लिया जाता है।

घर के पालतू कुत्तों की तो उनके मालिक देखभाल रखते हैं। उन्हें जंजीर में बांधकर रखा जाता है। समय पर नहलाते धुलाते और खिलाते हैं, पर गलियों में आवारा घूमने वाले कुत्तों की एक बड़ी संख्या होती है। ये कुत्ते अहार की तलाश में दर-दर भटकते हैं। उन्हें कहीं टुकड़ा मिलता है तो कहीं से मार कर भगा दिये जाते हैं। ये कुत्ते सर्दी गर्मी और बरसात में मारे-मारे फिरते हैं। कभी-कभी कमेटी वाले ऐसे कुत्तों को पकड़ कर ले जाते हैं।

कुत्ता यद्यपि बड़ा लाभदायक जानवर है, पर पागल होने पर बड़ा खतरनाक हो जाता है।उसके काटने पर इंजेक्शन लगवाना अनिवार्य हो जाता है। ऐसा न होने पर व्यक्ति के पागल हो जाने की आशंका बनी रहती है।

घुमंतू जाति के लोग सदैव अपने साथ कुत्ते रखते हैं। उनमें शिकारी कुत्ते भी होते हैं। इनके मालिक छोटे-छोटे जंगली जानवरों का शिकार करने में इन कुत्तों का प्रयोग करते हैं।

कुत्तों की स्वामिभक्ति की अनेक कथाएं हमें पुस्तकों में पढ़ने को मिलती हैं। महाराज युधिष्ठिर को तो स्वर्ग तक ले जाने वाला कुत्ता ही था। हमें पालतू कुत्तों की भली प्रकार देख-भाल करनी चाहिए। साथ ही अपरिचित कुत्तों से अपनी रक्षा करनी भी जरूरी है। उसके भौंकते ही हमें सावधान हो जाना चाहिए और अपना बचाव करना चाहिए।

Check Also

Class Discussion: NCERT 5th Class CBSE English

सहशिक्षा पर विद्यार्थियों के लिए निबंध: Co-Education System

सहशिक्षा (Co-Education System) अर्थ है साथ-साथ शिक्षा पाना अर्थात् पढनेवाले छात्र-छात्राओं का एक ही विद्यालय …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *