Monday , July 24 2017
Home / Essays

Essays

भाई-बहन को स्नेह-सूत्रों में बाँधने वाला रक्षाबन्धन Essay on Raksha Bandhan

भाई-बहन को स्नेह-सूत्रों में बाँधने वाला रक्षाबन्धन Essay on Raksha Bandhan

रक्षाबन्धन सांस्कृतिक त्यौहार था परन्तु अब वह मात्र पारिवारिक त्यौहार होकर रह गया है। प्राचीन काल में ऋषियों के आश्रम में धार्मिक अनुष्ठान के रूप में मनाया जाता था। यज्ञ के उपरान्त कलाई में रक्षा-सूत्र बाँधने की प्रथा थी, उसे रक्षा-कवच माना जाता था जो विघ्नों, आपदाओं से रक्षा करता …

Read More »

विज्ञान के वरदान पर निबंध Hindi Essay on Gift of Science

विज्ञान के वरदान पर निबंध Hindi Essay on Gift of Science

इस सृष्टि के रचयिता ब्रह्मा, पालन कर्त्ता विष्णु और संहारक शिव हैं। लेकिन मानव के नए-नए आविष्कारों को देखकर ऐसा लगता है इन तीनों महाशक्तियों को मानव ने अपने हाथों की कठपुतली बना लिया है। परखनली में शिशु को जन्म देकर ब्रह्मा को चौंका दिया। नए-नए उद्योग, कारखाने और कम्पनियां लगाकर …

Read More »

भिक्षावृत्ति पर निबंध: Hindi Essay on Beggary

भिक्षावृत्ति पर निबंध: Hindi Essay on Beggary

‘वृत्ति’ शब्द का प्रयोग स्वभाव और आजीविका दोनों अर्थों में किया जाता है। भिक्षावृत्ति के संदर्भ में इसका अर्थ भिक्षा के द्वारा अपना भरण-पोषण करने से ही है। कविवर घाघ ने भिक्षावृत्ति को भरण पोषण का अन्तिम साधन बताते हुए कहा है – उत्तम खेती मध्यम वान। निष्द चाकरी भीख …

Read More »

हमारा राष्ट्रीय पक्षी: मोर Essay on National Bird Peacock

हमारा राष्ट्रीय पक्षी: मोर Essay on National Bird Peacock

मोर हमारे जंगल का अत्यन्त सुन्दर, चौकन्ना, शर्मीला और चतुर पक्षी है। भारत सरकार ने 1963 में जनवरी के अन्तिम सप्ताह में इसे राष्ट्रीय पक्षी घोषित किया। सौन्दर्य का यह मूर्त रूप भारत में जनसाधारण को भी प्रिय है। कवि कालिदास ने भी (छठी शताब्दी) इसे उस जमाने में राष्ट्रीय …

Read More »

जंगल का राजा: शेर Hindi Essay on Lion

जंगल का राजा: शेर Hindi Essay on Lion

शेर की गति, उसका गठा हुआ सुन्दर शरीर, फुर्ती आदि विशेषताएं भारतीय और विदेशियों की इतनी अधिक पसन्द आईं कि उसे विज्ञापन उद्योग ने नाना रूपों में चित्रित किया है। कार, स्कूटर, ट्रक आदि की गति के विज्ञापनों में भी इसे प्रयुक्त किया जाता है। अपने इस प्यारे जीव के …

Read More »

ऊँट पर निबंध Essay on Camel

ऊँट पर निबंध Essay on Camel

ऊँट एक डौमेडरी जानवर है। यह विदेश से आया है। ईसवीं पूर्व चौथी शती से ग्रीक आक्रमणकारियों के साथ खैबर दर्रे से होकर भारत आया था। आज वह भारत के रेगिस्तान में सर्वाधिक पाया जाता है। इसे रेगिस्तान का जहाज भी कहते हैं। ऊँट की चार टांगे, दो आंखें, एक …

Read More »

कौऐ पर निबंध Essay on Crow

कौऐ पर निबंध Essay on Crow

भारतीय संस्कृति में पशु-पक्षियों का विशेष महत्व है। कुछ पक्षी तो ऐसे हैं जिनका सम्बन्ध भगवान के विभिन्न अवतारों से है। उल्लू लक्ष्मी का वाहन है। चूहा गणेश जी की सवारी है। कृष्ण मोर का पंख सदैव शीश पर धारण करते हैं। कृष्ण के हाथों में मक्खन रोटी छीन कर …

Read More »

जवाहर लाल नेहरू पर निबंध Hindi Essay on Jawaharlal Nehru

जवाहर लाल नेहरू पर निबंध Hindi Essay on Jawaharlal Nehru

भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू का जन्म 14 नवम्बर 1889 को इलाहबाद में हुआ। उनके पिता मोतीलाल नेहरू अपने समय के बड़े प्रसिद्ध वकील थे। उनकी माता का नाम स्वरूप रानी था। जवाहरलाल नेहरू को बचपन में राजकुमारों की तरह पाला पोसा गया। उनकी प्रारम्भिक शिक्षा घर पर ही …

Read More »

आदर्श विद्यार्थी पर निबंध Hindi Essay on Ideal Student

आदर्श विद्यार्थी पर निबंध Hindi Essay on Ideal Student

आदर्श विद्यार्थी का अर्थ है – श्रेष्ठ आचरण करने वाला विद्यार्थी। वैसे तो मानव जन्म से लेकर मृत्यु पर्यन्त कुछ न कुछ सीखता है परन्तु जीवन में विद्या प्राप्त करने की विशेष अवस्था को विद्यार्थी-जीवन कहते हैं। विद्या को नियमित रूप से प्राप्त करने वाला विद्यार्थी कहलाता है। विद्यार्थी का …

Read More »

स्वावलम्बन (आत्मनिर्भरता) पर निबंध Hindi Essay on Self Reliance

स्वावलम्बन (आत्मनिर्भरता) पर निबंध Hindi Essay on Self Reliance

स्वावलम्बन का अर्थ है – अपनी क्षमताओं और अपने प्रयत्नों पर आश्रित रहकर कार्य करना। यह गुण आने से व्यक्ति को दूसरों के सहारे की आवश्यकता नहीं रहती। स्वावलम्बन के लिए दृढ़ इच्छा शक्ति और कठोर परिश्रम की आवश्यकता होती है। स्वावलम्बन का पाठ किसी विद्यालय ने नहीं पढ़ाया जाता …

Read More »