Tuesday , October 20 2020
5th class NCERT Hindi Book Rimjhim

पानी रे पानी 5 NCERT CBSE Hindi Book Rimjhim Chapter 16

पानी रे पानी 5th Class NCERT CBSE Hindi Book Rimjhim Chapter 16

प्रश्न: अपने आस-पास के बड़ों से पूछकर पता लगाओ: तुम्हारे घर में पानी कहाँ से आता है?

पानी रे पानी – उत्तर: हमारे यहाँ दिल्ली जल बोर्ड द्वारा पानी उपलब्ध करवाया जाता है। हमें पाइप लाइनों के माध्यम से पानी मिलता है।

प्रश्न: अपने आस-पास के बड़ों से पूछकर पता लगाओ: तुम्हारे घर का मैला पानी कहाँ जाता है?

उत्तर: हमारे घर का मैला पानी नालियों के जरिए गंदे नाले में जाता है।

प्रश्न: अपने आस-पास के बड़ों से पूछकर पता लगाओ:

  1. तुम्हारे इलाके में धरती के अंदर का पानी कितने फ़ीट या कितने हाथ नीचे है?
  2. आज से पंद्रह वर्ष पहले यह पानी कितना नीचा था?

उत्तर:

  1. हमारे इलाके में धरती के अंदर का पानी 15-20 फीट नीचे है।
  2. आज से पंद्रह वर्ष पहले यह 10-15 फीट नीचे था।

प्रश्न: पाठ के आधार पर बताओ: अपने घर के नल के पाइप में मोटर लगवाना दूसरों का हक छीनने के बराबर है। लेखक ऐसा क्यों मानते हैं?

उत्तर: इसे लेखक दूसरों का हक छीनना इसलिए मानते हैं क्योंकि मोटर लगाने से उस घर में तो पानी आता है लेकिन अन्य घरों में पानी की कमी हो जाती है। मोटर सभी घरों के पाइपों से पानी खींच लेती है। इससे अन्य घरों में पानी की सप्लाई नहीं पहुँच पाती है।

प्रश्न: बड़ी संख्या में इमारतें बनने से बाढ़ और अकाल का खतरा कैसे पैदा होता है?

उत्तर: बड़ी संख्या में इमारतें बनाने के लिए मनुष्य ने छोटे-बड़े तालाब, झील आदि को भरना शुरू कर दिया तथा पेड़ों की अंधाधुंध कटाई से भी बाढ़, अकाल आदि का खतरा पैदा हो गया है।

पानी रे पानीप्रश्न: धरती की गुल्लक किन-किन साधनों से भरती है?

ऊत्तर: धरती की गुल्लक नदी, नालों, तालाबों, झीलों इत्यादि साधनों से भरती है।

प्रश्न: क्या तुम्हारे इलाके में कभी बाढ़ आई है? यदि हाँ, तो उसके बारे में लिखो।

उत्तर: दिल्ली के समीप ही यमुना नदी बहती है। बरसात के दिनों में यहाँ आए दिन बाढ़ की स्थिति पैदा हो जाती है। एक साल तो इतनी भयंकर बारिश हुई कि यमुना नदी के किनारे बसे स्थानों को हटना पड़ा था। बाढ़ का पानी चारों ओर फैल गया। लोगों के घर बह गए थे। खेती नष्ट हो गई थी। नोयडा से दिल्ली के अंदर आने का मार्ग अवरुद्ध हो गया था।

प्रश्न: क्या तुम्हारे घर में पानी कुछ ही घंटों के लिए आता है? यदि हाँ, तो बताओ कि कैसे तुम्हारे परिवार की दिनचर्या नल में पानी आने के साथ बँधी होती है?

उत्तर: हमारे यहाँ पानी ढाई घंटे के लिए आता है। उसके आते ही हम सबसे पहले पीने तथा नहाने-धोने का पानी भरकर रख देते हैं। इसके बाद जो समय बचता है हम प्रयास करते हैं कि घर के सदस्य जल्दी-जल्दी नहा ले। माताजी घर की साफ़-सफ़ाई पहले ही कर देती हैं। बस पानी वाला काम पानी के आने पर करती हैं। जैसे- बर्तन धोना और कपड़े धोना।

प्रश्न: क्या तुम्हारे मोहल्ले में रोज़मर्रा की ज़रूरतें पूरी करने के लिए लोगों को पानी खरीदना पड़ता है? यदि हाँ, तो बताओ कि तुम्हारे घर में रोज़ औसतन कितने लीटर पानी खरीदा जाता है? इस पर कितना खर्चा होता है?

उत्तर: हाँ, हमारे मोहल्ले में कुछ लोग पीने का पानी खरीदते हैं। एक बोतल लगभग 40 रुपये की आती है। इसका महीने का कुल खर्चा 1200 रुपये होता है।

प्रश्न: पाठ में पानी के संकट के किस प्रमुख कारण की बात की गई है?

उत्तर: पाठ में पानी के संकट के लिए प्रमुख कारणों की बात की गई है; नदी, नालों तथा तालाबों को कूड़े-कचरे से भरने तथा उस पर मकान व इमारतों को बनाना।

प्रश्न: पानी के संकट का एक और मुख्य कारण पानी की फ़िज़ूलखर्ची भी है। कक्षा में पाँच-पाँच के समूह में बातचीत करो और बताओ कि अपनी रोज़मर्रा की ज़िंदगी में पानी की बचत करने के लिए तुम क्या-क्या उपाय कर सकते हो?

उत्तर: अपनी रोज़मर्रा की जिंदगी में पानी की बचत के लिए हम कई उपाय कर सकते हैं। जैसे: ज़रूरत के अनुसार ही पानी का प्रयोग करें। कभी नल खुले न छोड़ें। बेकार पानी न बहाए। घरेलू कामों में कम से कम पानी का प्रयोग करें।

प्रश्न: जितना उपलब्ध है, उससे कहीं ज़्यादा खर्च करने से पानी का संकट उत्पन्न होता है। क्या यही बात हम बिजली के संकट के बारे में भी कह सकते हैं?

उत्तर: हाँ, बिजली का संकट भी पानी के संकट जैसा है। ज़रूरत से अधिक प्रयोग किसी भी चीज़ की कमी का कारण होती है।

प्रश्न: पानी की समस्या या बचत से संबंधित पोस्टर और नारे तैयार करो। यह काम तुम चार-चार के समूह में कर सकते हो।

उत्तर:

  1. जल ही जीवन है।
  2. पानी की हर बूँद कीमती है।
  3. पानी की बर्बादी, सबकी बर्बादी।
  4. जल बचाओ, जीवन बचाओ।
Save Water Poster
Save Water Poster

(नोटः हम आपको नारे लिखकर दे रहे हैं। इनका प्रयोग करके ऊपर दिए गए पोस्टर के समान स्वयं पोस्टर बनाने का प्रयास करें।)

प्रश्न: “पानी की बर्बादी, सबकी बर्बादी” इस नारे में ‘बर्बादी’ शब्द का एक अर्थ है या दो अलग अर्थ हैं? सोचो।

उत्तर: इसमें बर्बादी शब्द के दो अर्थ हैं। पहला पानी का बर्बाद होना, दूसरा इसकी कमी से होने वाली परेशानियाँ।

प्रश्न: पानी हमारी ज़िंदगी में महत्वपूर्ण तो है ही, मुहावरों की दुनिया में भी उसकी खास जगह है। पानी से संबंधित कुछ मुहावरे इकट्ठे करो और उनका उचित संदर्भ में प्रयोग करो।

उत्तर:

  1. पानी-पानी होना: लज्जित होना – मेरा झूठ पकड़े जाने पर मैं सबके सामने पानी पानी हो गया।
  2. आँख का पानी मरना: बेशर्म होना – आज के बच्चे बड़ों का लिहाज़ नहीं करते हैं। उनकी आँख का तो पानी मर गया है।
  3. पानी फिरना: नष्ट होना – कल रात खड़ी फसल में आग लग गई। रामलाल किसान की पूरे साल की मेहनत पर पानी फिर गया।
  4. मुँह में पानी आना: लालच आ जाना – दावत में पकवानों को देखकर मेरे मुँह में पानी आ गया।

Pani Re Pani / पानी रे पानी
यह कार्यक्रम पानी के स्त्रोत, प्रकार और महत्ता की जानकारी देता है

Ch 16 पानी रे पानी | Pani Re Pani (Hindi, Grade 5, CBSE) Easy explanation
ASA Education

पानी रे पानी || Pani Re Pani || Chapter 16 || Class 5 Hindi With Question & Answers || NCERT || CBSE
Enrich Minds

पानी रे पानी पाठ 16 हिंदी class 5th
Learner Bee

Check Also

5th class NCERT Hindi Book Rimjhim

गुरु और चेला 5 NCERT CBSE Hindi Book Rimjhim Chapter 12

गुरु और चेला 5th Class NCERT CBSE Hindi Book Rimjhim Chapter 12 गुरु और चेला – प्रश्न: …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *